Categories
dil se dil tak

shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari:new

shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari:

shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari
shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari

1.इश्क लिखना चाहा तो कलम भी टूट गयी,#ये कहकर अगर लिखने से इश्क मिलता, तो आज इश्क से जुदा होकर कोई टूटता नहीं।

2.तू हजार बार रुठेगी फिर भी तुझे मना लूँगा,#तुझसे प्यार किया हे कोई गुनाह नहीं, #जो तुझसे दूर होकर खुद को सजा दूँगा।

3.बारिश‬ के ‪बाद‬ तार पर ‪टंगी‬ ‪आख़री‬ ‪‎बूंद‬ से पूछना, क्या‬ होता है अकेलापन।

4.धोखा देने के लिए शुक्रिया, तुम ना मिलते तो दुनिया समझ में ना आती।

5.यादों की परछाई में अब तो आये तेरा ही चेहरा, तू अभी तक इस बात से है अनजान मैं हूं दीवाना तेरा।

6.इजहार-ए-मोहब्बत करने तो बहुत बार सोचा मैंने, पर हर बार तेरे ही अक्स ने रोका है रास्ता मेरा।

7.आंखों की गहराई को समझ नहीं सकते, होंटो से हम कुछ कह नहीं सकते।

8.कैसे बयां करे हम आपको ये दिल-ए- हाल, कि तुम्ही हो जिसके बगैर हम रह नहीं सकते।shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari:

9.हमें अपनी जिंदगी में किताब, रास्ता और सोच को गलत नहीं होने देना चाहिए।

10.कोई रिश्ता जो न होता तो वो खफा क्यों होता, ये बेरुखी उसकी मोहब्बत का पता देती है।

11.प्यार की आंच से तो पत्थर भी पिघल जाता है, सच्चे दिल से साथ दे तो नसीब भी बदल जाता है।

12.बड़ा गजब किरदार है मोहब्बत का, अधूरी हो सकती है मगर खत्म नहीं।

13.चाहने वाले तो बहुत है मेरे, पर गुरूर बस तेरी चाहत का है मुझे।

14.बंधन हो तो ऐसा हो जो गंगा और घाट के जैसा हो, मैं छू लूँ तो तुझको पाऊं तुम छू लो तो मैं तुझमें समा जाऊं।

♥shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari:♥

shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari
shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari

15.कभी यु भी जनवरी में कोई कमाल हो जाए, ये सुकून-ए-इतवार तुझे भी साथ लेकर आये।

16.मुकम्मल दास्तां कह दूं तो इतना ही काफी है, तुम्ही तुम थे तुम्ही तुम हो तुम्ही तुम रहोगे।

17.चाहने वाले तो बहुत है मेरे, पर गुरूर बस तेरी चाहत का है मुझे।

18.बंधन हो तो ऐसा हो जो गंगा और घाट के जैसा हो, #मैं छू लूँ तो तुझको पाऊं तुम छू लो तो मैं तुझमें समा जाऊं।

19.कभी यु भी जनवरी में कोई कमाल हो जाए, ये सुकून-ए-इतवार तुझे भी साथ लेकर आये।shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari

20.मुकम्मल दास्तां कह दूं तो इतना ही काफी है, तुम्ही तुम थे तुम्ही तुम हो तुम्ही तुम रहोगे।

21.वक्त बेवक्त किसी को याद करना भी इश्क़ है , लफ्ज़ तो सारे सुने सुनाए है अब तू मेरी खामोशी में ढूढ़ जिक्र अपना।

22.दिल के सागर में लहरे उठाया ना करो, #ख्वाब बनकर नींद चुराया ना करो,#बहुत चोट लगती है मेरे दिल को, तुम ख्वाबो में आ कर यूँ तड़पाया ना करो।

23.यही चेहरा यही आंखें यही रंगत निकले, जब कोई ख्वाब तराशूं तेरी ही सूरत निकले।

24.भूल जाने का मशवरा और जिँदगी बनाने की सलाह, ये कुछ तोहफे मिले थे उनसे आखिरी मुलाकात मे।

25.दिल अपना कुछ यूँ बहला रहे हैं हम, लिखकर जज़्बात सरेआम बता रहे हैं हम।

26.मेरी खामोशी से किसी को फर्क नहीं पड़ता, और शिकायत के दो लफ्ज़ कहूँ तो चुभ जाते है।

27.इश्क़ तो हमारा चुम्बकीय था, मगर उसमे ही आयरन की कमी थी।

28.मेरे इज़हार करने पर कुछ यूं हा कहा उसने, बात करते करते मेरी माँ को माँ कहा उसने।

zindagi shayari,कोई आदत कोई बात या सिर्फ मेरी खामोशी

shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari
shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari

29.कोई आदत कोई बात या सिर्फ मेरी खामोशी, कभी तो कुछ तो आपको भी याद आती होगी।

30.चाहत तो हम भी रखते हैं, किसी के दिल में हम भी धड़कते हैं,#न जाने वो कब मिलेंगे, जिन के लिए हम रोज़ तड़पते हैं।

31.मोहब्बत में हमेशा अपने आप को बादशाह समझा हमने, मगर एहसास तब हुआ जब किसी को माँगा फकीरों की तरह।

32.ख़यालातों के बदलने से भी निकलता है नया दिन, सिर्फ़ सूरज के चमकने से ही सवेरा नहीं होता।shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari

33.चार दिनों की उम्र मिली है और फ़ासले जन्मों के, इतने कच्चे रिश्ते क्यूँ हैं इस दुनिया में अपनो के।

34.ये झुकी नज़र और ये मुस्कुराते लब, साबित करते है मोहब्बत तो है किसी से।

35.हमारे चले जाने के बाद , ये समुंदर भी पूछेगा तुमसे,#कहा चला गया वो शख्स जो तन्हाई मे आ कर, बस तुम्हारा ही नाम लिखा करता था।

36.नहीं बस्ती किसी और की सूरत अब इन आँखों में,# काश की हमने तुझे इतने गौर से ना देखा होता।

37.दिल की यादों में संवारु तुझे तू दिखे तो आँखों में उतारूं तुझे #तेरे नाम को लबों पर ऐसे सजाऊँ सो जाऊं तो ख्वाबों में पुकारूँ तुझे।

38.इश्क सुनते थे जिसे हम वो यही है शायद, खुद-बखुद दिल में है इक शख्स समाया जाता।

Mohabbat Shayari,सर्द मौसम ने आज फिर एक शरारत की है,

shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari
shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari

39.सर्द मौसम ने आज फिर एक शरारत की है, हमको यूं तन्हा देखकर इसने बगावत की है।

40.तुम तो जी लेते हो हमारे बिना पता नहीं हम से क्यों नहीं जिया जाता है तुम्हारे बिना।

41.रंग तेरी यादों का उतर न पाया अब तक, लाख बार खुद को आँसुओं से धोया हमने।

42.अपने खिलाफ बाते खामोशी से सुन लो, यकीन मानो वक्त बेहतरीन जवाब देगा।

43.वक़्त को भी हुआ है जरूर किसी से इश्क, जो वो बेचैन है इतना कि ठहरता ही नहीं।shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari

44.उलझन में हूं या दुख में मैं मेरा दोस्त है मेरी परवाह करेगा, भूलेगा ना वो कभी तो मेरा जिक्र करेगा।

45.हर काम किया मैंने उसकी खुशी के लिए, तब भी जाने क्यों बेवफा कहलाता हूं।

46.रब ना करें इश्क़ की कमी किसी को सताए, प्यार करो उसी से जो तुम्हें, दिल की हर बात बताये।

47.कोई मजबूरी होगी जो वो याद नहीं करते, सम्भल जा ऐ दिल तुझे तो रोने का बहाना चाहिए।

48.चंद आहे भरेगा फूल दिल थाम लेंगे, हुस्न की बात चली तो हम तेरा नाम लेंगे।

49.चाहने वाले तो बहुत हैं मेरे, पर गुरूर बस तेरी चाहत का है मुझे।

50.किसी को भी किसी से प्यार कैसे हो जाता है,# किसी पर भी ये दिल जांनिसार कैसे हो जाता है,#कैसे ये दिल #किसी की एक झलक को तरसने लगता है, #और कैसे एक अजनबी सारा संसार हो जाता है।

shayari love,.न वो आ सके न हम कभी जा सके

shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari
shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari

51.न वो आ सके न हम कभी जा सके, न दर्द दिल का किसी को सुना सके।

52.बस बैठे है यादों में उनकी, न उन्होंने याद किया और न हम उनको भुला सके।

53.प्यार का इज़हार हो ज़रूरी तो नही होता, हर वक्त आपसे मुलाकात हो ये ज़रूरी नही होता।

54.हम आपसे जी जान से मोहब्बत करतें हैं, अब ये हम दिल चीर के दिखाए ये ज़रूरी तो नही होता।shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari

55.तू इश्क़ नहीँ फितूर है मेरी साँसों का सुरूर है, जरुरत नहीं फिक्र हो तुम कर ना पाऊँ कही भी वो जिक्र हो तुम।

56.इश्क कभी सूरत का मोहताज़ नही होता है,ये तो दो दिलो का सरताज होता है।

57.इस दिल को सूरत तो अच्छी लगने लगती है,जो दिल सच्चे दिल से एक दूजे से जुड़ा होता है।

58.तेरी वफ़ा क्या है तेरी सदा क्या है,क्या है तेरा इश्क तू ही जाने।

59.लेकिन मैं क्या हूँ मेरी मोहब्बत क्या है,ये तो मैं जानू और मेरा खुदा जाने।

60.जब मुझे कभी तेरा ख्याल आ जाता है,मेरा दिल ज़ोरों से धड़कता रह जाता है।

61.तेरा ज़िक्र मेरे घर मे कभी आ जाता है,मेरा घर फूलों की तरह महकता रह जाता है।

62.मेरा सवाल कुछ भी हो पर जबाब तुम ही हो, मेरा ख्वाब कुछ भी हो पर ख्याल तुम ही हो।

63.मेरा दुख कुछ कुछ भी पर सुख तुम ही हो, मेरा रास्ता कुछ भी हो पर मंजिल तुम ही हो।

zindagi shayari,जानते हो सब फिर भी अनजान बनते हो

64.जानते हो सब फिर भी अनजान बनते हो,इस तरह आप हमें परेशान करते हो।

65.पूछते हो कि क्या पसंद है आपको,खुद जवाब होकर ये सवाल करते हो।

66.तू मेरे दिल के पास है और दूर भी,तू दिल का चैन है और बेचैनी भी।

67.तू एक हकीकत है पर एक ख्वाब भी,तू मेरी हँसी है और आसूं भी।

68.दुआओ में खुदा से आपकी खुशियाँ मांगते हैं,हम तो दुआ में सिर्फ आपकी हँसी मांगते हैं।

69.हम मांगे भी तो आपसे क्या मांगे,फिर सोचा आपसे आपका प्यार मांगते हैं।

70.तेरे प्यार का सिला हर हाल में देंगे,खुदा भी मांगे ये दिल तो टाल देंगे।

71.अगर दिल ने कहा तुम बेवफ़ा हो,तो इस दिल को भी सीने से निकाल देंगे।

72.तुझे अपनी पलको पे बिठाऊँ कभी मेरी जिंदगी में आ,तुझे अपनी बाहों में सजाऊँ कभी मेरी जिंदगी में आ।shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari

73.गजब की खूबसूरती दी है ऊपर बाले ने तुझे,तुझे अपनी जिंदगी में बसालूँ कभी मेरी जिंदगी में आ।

74.आप कब हमसे प्यार का इज़हार करोगे,आप कब हमारे प्यार में अपना दिल बेकरार करोगे।

75.एक एक रात सिर्फ आपकी याद में गुजरती है,आप कब हमारा भी इंतज़ार करोगे।

Mohabbat Shayari,हम सिर्फ तुझे अपना बनाना चाहते हैं,

76.हम सिर्फ तुझे अपना बनाना चाहते हैं,हम तो सिर्फ तुझे दिल में बसाना चाहते है।

77.तू चाहे या न चाहे तेरी मर्जी,पर हमतो तेरे इश्क में मर जाना चाहते हैं।

78.काश खुशियों की कोई दुकान होती,काश हमें उसकी पहचान होती।

79.हर ख़ुशी उसके लिये खरीद लेता,चाहे उसकी कीमत मेरी जान होती।

80.तू चाँद मैं सितारा होता,आसमान में एक आशिया हमारा होता।

81.लोग तुझे दूर से देखा करते औरसिर्फ पास रहने का हक हमारा होता।

82.कितना सुकून इस दिल को मिलता है जब उनसे बात होती है,कितनी मुद्दतो में वो एक शाम आती है।shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari

83.जब वो हमे अपनी पलके उठा कर देखते हैं,मेरे लिए तो बस वही मेरी कायनात होती है।

84.अपनी जुल्फों को मेंरे चेहरे पर बिखरा दिया करो कभी कभी।

85.बारिश की तरह बरस जाया करो मुझ पर कभी कभी।

86.तुम खुशबु बन कर मेरी दिल की गली से गुजर जाओ कभी कभी।
87.तुम फूल बन कर मुझ पर बिखर जाओ कभी कभी।

88.न गुलफाम मांगते है न कोई सलाम मांगते हैन कोई मुबारक मांगते है न कोई पैगाम मांगते है।

89.जो गहराई से हमारे ऊपर चढ़ जाये,हम तो बस ऐसा नशा मांगते हैं।

90.कुछ रिश्ते ऐसे होते है इन्हें नाम न दिया करो तुम।

91.कुछ रिश्तो को ऐसे ही चलने दिया करो इन्हें इल्जाम न दिया करो तुम।

92.इन लफ़्ज़ों में यूँ ही कशिश रहती है,इन लफ़्ज़ों को कोई अंजाम न देना तुम।

93.हम जो एक बार चले गये फिर पा न सकोगे,हम चले जायेंगे वहाँ जहाँ तुम आ न सकोगे।

shayari love,मिलने के लिए तड़पोगे तो बहुत,

94.मिलने के लिए तड़पोगे तो बहुत,लेकिन हम चले जायेंगे वहाँ जहाँ से फिर बुला न सकोगे।

95.कितनी कसमे खाते है लोग, कितने वादे करते हैं,फिर भी लोग क्यों साथ छोड़ जाते है।

96.हमे तो दर्द फूल के टूटने से भी होता है,फिर लोग क्यों दिल तोड़ जाते हैं।

97.इस जिंदगी में वादे तो सभी किया करते हैं,लेक़िन साथ कोन है निभाता।

98.अगर वे बेवफा होकर यादों को भुलाया जाता,तो फिर मुस्कुरा कर दर्द क्यों छुपाता।shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari

99.जब खामोश आँखो से बात होती है ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है।

100.तुम्हारे ही ख़यालो में खोए रहते हैं पता नही कब दिन और कब रात होती है।

101.तू उस फूल की तरह है जो न तोड़ा जाये और जो न छोड़ा जाए।

102.अगर वो फूल तोड़ दें तो मुरझा जाए और अगर छोड़ दें तो कोई और ले जाए।

103.प्यार का इज़हार हो, ज़रूरी तो नही होता।हर वक्त आपसे मुलाकात हो, ये ज़रूरी नही होता।

104.हम आपसे जी जान से मोहब्बत करतें हैं,अब ये हम दिल चीर के दिखाए ये ज़रूरी तो नही होता।

105.एहसास बहुत होगा जब छोड़ के जाएंगे रोयेंगे बहुत मगर आँसू नहीं आएँगे।

106.जब साथ कोई ना दे तो आवाज़ हमें देना आसमान पर होंगे तो भी लौट के आएंगे।

zindagi shayari,जो हदसे ना गुज़र जाए वो प्यार ही क्या

107.जो हदसे ना गुज़र जाए वो प्यार ही क्या जो प्यार करने पे मजबूर ना करदे वो इकरार ही क्या।

108.इंतजार तो सब करते है साँसे टूटने तक जो साथ ना दे वो यार ही क्या।

109.अपनी कलम से लिख लूँ वो लफ्ज़ हो तुम,दिमाग से सोच लूँ वो ख्याल हो तुम।

110.दुआओ में मांग लूँ वो मन्नत हो तुम,जिसे हम अपने दिल मे रखते हैं वो चाहत हो तुम।

111.तुझसे मुलाकात तो होती है, पर ये दिन गुज़र जाता है।

112.अभी मुलाकातों की प्यास भी नही बुझी, जब तक बरसात गुज़र जाती है।

113.तेरी यादों का सहारा अभी सजा ही होता है,फिर ये कमबख्त रात गुज़र जाती है।

114.ज़िन्दगी में अब किसी की यादों का सहारा छोड़ दिया।

115.अब इस दिल की कश्ती ने दरिया का किनारा छोड़ दिया।

116.तू मेरी यादों में तो बस रहेगा उम्र भर के लिए,लेकिन अब तेरी राह में इंतेज़ार करना छोड़ दिया।

117.अब तो मेरी तन्हाईयों में रातें क्या होती हैं,हर रात बस मेरी दीवारों से बातें होती हैं।

118.उस सुबह के इंतजार में रातें कट जातीं हैं,जिस सुबह उनसें हमारी मुलाकातें होती हैं।shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari

119.खुदा करे कोई तन्हाई उनसे होकर न गुज़रे,ज़िन्दगी में कोई भी गम उनको छूकर न गुज़रे।

120.तुम जो चाहो उन सभी खुशियों की हकदार बनों, और जो तुम न चाहो वो कभी तुम्हारे पास से न गुज़रे।

121.जब भी तुझसे मुलाकातें होने लगतीं हैं,एक अजब सी लहर सीने में दौड़ने लगती है।

122.यूँ तो हजारों हैं इस जमाने मे दिल लगाने के लिए,फिर भी न जाने क्यूँ ये तेरे चहरे पर ठहरने लगतीं हैं।

Mohabbat Shayari,बाँहों के दरमियाँ दो प्यार मिल रहे हैं

123.बाँहों के दरमियाँ दो प्यार मिल रहे हैं जाने क्या बोले मन डोले सुनके बदन धड़कन बनी ज़ुबाँ।

124.आके तेरी बाँहों में हर शाम लगे सिंधूर मेरे मन को महकाए तेरे मन की कस्तूरी।shayari love,zindagi shayari,Mohabbat Shayari

125.बदल गए है हम, क्योंकि अब बात औकाद पर आ पहुँची थी।

126.जब खामोश आँखो से बात होती है ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है, #तुम्हारे ही ख़यालो में खोए रहते #हैं पता नही कब दिन और कब रात होती है।

127.शायरी हमारा शौक नहीं है ज़नाब ये तो मोहब्बत में मिली सजाएं हैं, #मोहब्बत के नशे में जब आदमी चूर होता है उसे मेहबूब का हर फैसला मंजूर होता है।

128.माना आज उन्हें हमारा कोई ख़याल नहीं जवाब देने को हम राज़ी है पर कोई सवाल नहीं, पूछो उनके दिल से क्या हम उनके यार नहीं क्या हमसे मिलने को वो बेकरार नहीं।

love status, motivational Shayari 1

Hindi me Shayari love: Shayari funny for friends 2

dil se dil tak 3

Dosti Shayari